अंजली गोयल को पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक का अतिरिक्त प्रभार

0
97

पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सेवानिवृत्त हुए ललित चंद्र त्रिवेदी को रेल सहयोग में रजिस्टर्ड होने की बात कही और उन्हें एक गेस्ट फैकल्टी के रूप में रेलवे के ट्रेनिंग सेंटरों में खासकर नायर और अन्य संस्थानों में ट्रेनिंग देने का सुझाव दिया है।

संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस की गति राजधानी एक्सप्रेस के बराबर
ECR के CPRO राजेश कुमार ने बताया कि ललित चंद्र त्रिवेदी के कार्यकाल में 124 आरआरआई (RRI) और पीआई (PI) का काम पूरा किया गया। उन्होंने बताया कि इसमें सबसे महत्वपूर्ण दानापुर रेल मंडल का आरआरआई था, जो पिछले 19 साल से लंबित पड़ा था। राजेश कुमार ने बताया कि ललित चंद्र त्रिवेदी के कार्यकाल में साल 2018 से साल 2021 के बीच 50 एलएचबी (LHB) रेक उपलब्ध कराया गया जो फिलहाल 32 मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में लगाया गया है। इसके अलावा उनके कार्यकाल में ही पूर्व मध्य रेल में 12 मेमू/डेमू चल रही ट्रेन की संख्या बढ़कर 62 हो गई है। इसके साथ ही उन्हीं के कार्यकाल में संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस की गति सीमा भी राजधानी एक्सप्रेस के बराबर कर दी गई।

अंजली गोयल को मिला पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक का अतिरिक्त प्रभार
पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी के सेवानिवृत्त होने के बाद बनारस रेल का इंजन कारखाना की महाप्रबंधक अंजली गोयल को पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। ECR के CPRO ने बताया कि अंजली गोयल 1985 बैच की भारतीय रेल लेखा सेवा कि अधिकारी के रूप में रेल सेवा में आई थी। अंजली गोयल श्री राम कॉलेज दिल्ली से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएट होने के बाद दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से एडवांस इकोनॉमिक्स में मास्टर डिग्री ले चुकी है। बताया गया कि अंजली गोयल ने हाई स्पीड रेलवे इन इंडिया, सस्टेनेबल डेवलपमेंट ऑफ रेलवे एंड जनरल बजटिंग जैसे विषयों पर कई लेख भी लिखे हैं। इसके अलावा इन्हें रेल प्रशासन और प्रबंधन का भी काफी अनुभव है