शैक्षणिक पृष्ठभूमि के आर्थिक जानकारों ने रखें अपनी विचार

समस्तीपुर। वन न्यूज लाईव नेटवर्क

जिले के उजियारपुर प्रखंड अन्तर्गत चंदौली एमएनडी कॉलेज में ‘जीएसटी के चार वर्ष’ विषय पर वेबिनार का आयोजन रविवार को किया गया। इसकी अध्यक्षता पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह तथा संचालन प्रो. रामभरत ठाकुर ने किया। वेबिनार का उद्घाटन करते हुए ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. राजकिशोर झा ने कहा कि चार वर्षों में जीएसटी के माध्यम से प्राप्त राजस्व प्राप्ति की उपयोगिता अभी बांकी है। मिथिला विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर अर्थशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. विजय कुमार यादव ने कहा कि जीएसटी से उच्च शिक्षा को मुक्त किया जाना चाहिए। इसी विभाग के प्रो. हिमांशु शेखर ने कहा कि जीएसटी से महंगाई पर रोक की उम्मीद थी, लेकिन रोक सम्भव नहीं हो सका। डॉ. विजय कुमार गुप्ता ने कहा कि व्यवसायियों को न्याय सुलभ करने के लिए अपीलीय न्यायाधिकरण का गठन किया जाना चाहिए। जीडी कालेज के प्राध्यापक प्रो. प्रेम विजय ने कहा कि जीएसटी से भी कर चोरी पर रोक नहीं लग पाई है। डॉ. आरुणी कुमार ने कहा कि व्यापारी अभी भी तकनीकी अक्षमता से जूझ रहे हैं। एमएमटीएम कॉलेज दरभंगा के प्रो. राज किशोर झा ने कहा कि पेट्रोल -डीजल के कीमतों में वृद्धि रोकने के लिए इसको जीएसटी के अंतर्गत लाना चाहिए। बीआरबी कॉलेज समस्तीपुर के डॉ. विंध्याचल साह ने कहा कि जीएसटी से छोटे व्यापारियों की समस्या बढी है। डॉ. जितेन्द्र मोहन, डॉ. सुनील साह, डॉ. रिंकी कुमारी ने भी अपना विचार रखें। मौके पर प्रो. रामबिहारी राम, डॉ. विजय कुमार गुप्ता आदि लोग मौजूद थे।