सहकारिता हीं लाएगा सुनहरा भविष्य और आज है बहुत इसकी जरूरत : डा. संजय पासवान

0
81


उजियारपुर में “भारत सरकार में सहकारिता एवं पशुपालन मंत्रालय के गठन के पश्चात ग्रामीण अर्थ व्यवस्था में सुधार की संभावनए” विषय पर सेमीनार का आयोजन
✍️एमएनडी कॉलेज उजियारपुर से एएम बबलु
समस्तीपुर जिला के चंदौली (उजियारपुर) स्थित एमएनडी कॉलेज में रविवार को “भारत सरकार में सहकारिता एवं पशुपालन मंत्रालय के गठन के पश्चात ग्रामीण अर्थ व्यवस्था में सुधार की संभावनए” विषय पर सेमीनार का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह ने तथा संचालन प्रो. रामभरत ठाकुर ने किया। सेमीनार का उद्घाटन करते हुए पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं विधान पार्षद डा. संजय पासवान कहा कि सहकारिता आज इसकी बहुत जरूरत है और इसका सुनहरा भविष्य है। अतिथि के रूप में उपस्थित मिथिला दुग्ध उत्पाद संघ के प्रबंधक डीके श्रीवास्तव ने कहा कि पशुपालकों के समस्यो की समाधान कर ही ग्रामीण क्षेत्र विकसित हो सकता है। मिथिला मिल्क यूनियन के चेयरमैन उमेश राय ने कहा कि पशुपालन के विकास को बढावा देने के लिए पशु चारा के अनुदान में बढोतरी करने की आवश्यकता है। सहकारिता आंदोलन के नेता राम कलेवर सिंह ने सहकारिता आन्दोलन को विकसित करने पर वल दिया। पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में शब्जी उत्पादन के लिए जाने जानेवाले समस्तीपुर जिला में शब्जी को बढावा देने के लिए सहयोग समिति बनाया जाना चाहिए। सेमीनार में एमएनडीए कॉलेज के साशी निकाई के सचिव पंकज ज्योति, सहकारिता से जुड़े कई लोगों के साथ कई जनप्रतिनिधि व समाजिक कार्यकर्ताओं ने अपनी विचार रखा। मौके पर पुर्व मुखिया अंसार अहमद, अरविंद पांडेय, पुर्व पंसस चन्द्रशेखर प्रसाद, पुर्व जिला पार्षद प्रभू नारायण राय, मुखिया उमेश सहनी सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे। सेमीनार के एवं धनवाद ज्ञापन राम बिहारी राम ने किया।