शिक्षक के निलंबन का तुग़लकी फ़रमान सरकार वापस ले अन्यथा आंदोलन:रामचंद्र

0
97

ONE NEWS LIVE NETWORK TEAM DIGITAL


कटिहार के शिक्षक तमीजुद्दीन के निलंबन का फ़रमान से संबंधित मामला पूरे प्रदेश के शिक्षकों में गहराता जा रहा है। शिक्षकों का आक्रोश एक बड़े आंदोलन का रुख लेने की तैयारी में है ।
बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के कार्यकारिणी अध्यक्ष रामचंद्र राय ने अपने कड़े शब्दों में कहा- कटिहार के शिक्षक तमीजुद्दीन से संबंधित निलंबन का तुगलकी फरमान सरकार अविलंब वापस ले अन्यथा की स्थिति में पूरे प्रदेश के शिक्षक अपना आक्रोश आंदोलन के रूप में प्रदर्शित करेंगे।
बताते चलें जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, मध्यान्ह भोजन योजना,कटिहार के पत्रांक- 373 दिनांक- 23-07-21 द्वारा खाद्यान्न के खाली बोरा के बिक्री से प्राप्त आय की विवरणी की मांग की गई थी। जिसके पश्चात शिक्षक तमीजुद्दीन के द्वारा MDM का बोरा माथे पर लेकर सार्वजनिक स्थल पर “बोरा ले लो… बोरा ले लो…”का नारा लगाते हुए बोरा बेचने का वीडियो सोशल मीडिया सहित विभिन्न अखबारों में वायरल हो रहा है।
जिसके पश्चात विशेष सचिव, शिक्षा विभाग सह निदेशक, मध्यान्ह भोजन योजना,बिहार, पटना ने कटिहार के शिक्षक तमीजुद्दीन के द्वारा माथे पर बोरा बेचने वाले कृत्य को शिक्षक आचरण संहिता के प्रतिकूल, सरकारी राजस्व की हानि एवं वित्तीय अनियमितता बरतने का आरोप लगाया। परिणाम स्वरूप निलंबन का तुग़लकी फरमान शिक्षक तमीजुद्दीन के ख़िलाफ़ जारी हो गया।

वक्ताओं ने कहा- सूबे के तमाम शिक्षक गुणवत्तापूर्ण शिक्षण कार्य हेतु प्रतिबद्ध हैं ऐसे में उन्हें गैर शैक्षणिक कार्यों में लगाया जाना किसी भी तरह से मुनासिब नहीं है।