सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम-विकास संस्थान ने किया जागरूकता वेबीनार

0
56

ONE NEWS NETWORK BIHAR



‘‘बौद्धिक सम्पदा अधिकार(आईपीआर)’’ पर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम-विकास संस्थान ने किया जागरूकता वेबीनार का आयोजन

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम-विकास संस्थान, पटना (सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत) द्वारा ‘‘बौद्धिक सम्पदा अधिकार(आईपीआर)’’ पर एक वेबीनार’’ का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन विश्व मोहन झा, भा.उ.वि.से. एमएसएमई-डीआई, पटना के प्रमुख ने किया। कार्यक्रम में अतिथि के रूप में श्रीमती ऊषा झा, अध्यक्ष बिहार महिला उद्योग संध, पटना; डी. के. सिंह, पूर्व निदेशक एमएसएमई-डीआई, पटना व सलाहकार टीआरटीसी, पटना; श्री विजय प्रकाश, भा.प्र.से़ (अवकाश प्राप्त), अध्यक्ष सह मुख्य कार्यकारी पदाधिकारी ए. आई.सी. बिहार विद्यापीठ, पटना; श्री एस.सी.राय प्रोफेसर, डिन, रिर्सच एण्ड डेवेलपमेंट सह निदेशक, आई.पी.आर. चाणक्य राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, पटना; श्री राकेश कुमार सिंह, आर्यभट्ट नोलेज विश्व विद्यालय, पटना; श्री अजित कुमार, आई.पी.आर. अटार्नी, पटना; श्री नलिन भारती, आई.पी.आर. प्रकोष्ठ, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना सहित अन्य लोग शामिल हुए। इसके अलावा कार्यक्रम में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमीगण भी सम्मिलित हुए। कार्यक्रम की शुरूआत कार्यालय के सहायक निदेशक सम्राट झा ने स्वागत भाषण एवं आई.पी.आर कार्यक्रम के थीम प्रस्तुतीकरण से किया। कार्यक्रम के उदघाटन सत्र में अतीथीयों ने कार्यक्रम में सम्मिलित प्रतिभागियों को संबोधित किया एवं आई.पी.आर. के उद्यम विकास में होने वाले लाभ को पाने हेतु प्रोत्साहित किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सभी विशिष्ट अतिथियों ने इस कार्यक्रम को भावी उद्यमियों के लिए जागरूक करने वाला कदम बताया एवं इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए कार्यालय की सराहना की। अतिथियों ने आईपीआर के महत्व को बताते हुए ऐसे अभियानो को निरंतर रूप से चलाये जाने की बात कही। इस अवसर पर अतिथियों द्वारा यह बताया गया कि आईपीआर ही आज के युग की पहली मांग है एवं सभी भावी उद्यमियों को आईपीआर के टूल्स को आत्मसात करने पर सघन विचार करने की जरूरत है। अपने अध्यक्षीय संबोधन में वी. एम. झा ने बताया कि राज्य में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उध्यमिओ (एमएसएमई) के नवप्रवर्तन, डिज़ाइन (प्रारूप), प्रक्रिया और व्यावसायिक रणनीतियों को सुरक्षित रखने के लिए बौद्धिक सम्पदा अधिकारों के बारे में सजगता बढ़ाना एवं देश के विभिन्न औद्योगिक क्लस्टर में लागू करने की जरुरत है। श्री झा ने इस कार्यक्रम के अंतर्गत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार द्वारा दी जा रही सहायता के बारे में प्रतिभागियों को जानकारी दी । आईपीआर योजना में प्रावधान के उपर सम्राट एम. झा, सहायक निदेशक, एमएसएमई-डीआई, पटना ने प्रतिभागियों के समक्ष प्रस्तुतीकरण पेश किया ।


पत्र सूचना कार्यालय
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय
भारत सरकार, पटना