जिलाधिकारी की अध्यक्षता में राजस्व विभाग की समीक्षात्मक बैठक

0
89

जिलाधिकारी शशांक शुभंकर की अध्यक्षता में राजस्व विभाग की समीक्षात्मक बैठक सभा कक्ष में आहूत की गई।
बैठक में अपर समाहर्ता समस्तीपुर सभी अनुमंडल पदाधिकारी भूमि सुधार उप समाहर्ता समस्तीपुर सदर एवं सभी अंचल के अंचल अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से क्रमवार रूप से स्लाइड के माध्यम से बैठक की गई।
जिलाधिकारी द्वारा महत्वपूर्ण निम्नलिखित निर्देश दिए गए:

1. सभी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया कि अपने अंचल के राजस्व कर्मचारी के साथ एक बैठक करें व उसे निर्देशित करें कि सभी राजस्व कर्मचारी अपने-अपने हल्का में पंचायत वार सप्ताह में 4 से 5 दिन बैठेंगे तथा एक दिन अंचल कार्यालय में बैठेंगे।

2. राजस्व कर्मचारी अगर प्राइवेट आवास/ ऑफिस में कार्य करते पाए जाते हैं तो उन पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। अनुमंडल पदाधिकारी और भूमि सुधार उप समाहर्ता इसका शत-प्रतिशत अनुपालन कराएंगे।

3. जिलाधिकारी महोदय द्वारा सख्त निर्देश दिया गया कि जितना भी जमाबंदी व सरकारी कागजात प्राइवेट स्थान या घर या दुकान में पाया जाता है तो उस पर सीधे तौर से प्राथमिकी दर्ज करते हुए उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से लाइट वार समीक्षा की गई जो इस प्रकार है:
१. हल्का निरीक्षण
२.बेघरों को वास गीत भूमि
३. आर ओ आर संबंधित समीक्षा
४. सीओ एसएचओ अनिवार्य बैठक प्रतिवेदन
५. एचआरएमएस से संबंधित प्रतिवेदन
६. सैरात संबंधी प्रतिवेदन
७. CwJC का लंबित प्रतिवेदन
८. MRR भवन की स्थिति

आपदा

1. Covid-19 से मृत व्यक्तियों से संबंधित सूची जिनका रिपोर्ट ऑफ प्राप्त है- अनुमंडल समस्तीपुर।
2. स्थानीय आपदा संबंधित लंबित अभिलेख दिनांक 1.1.20 से 23.09. 2021 तक अनुमंडल रोसरा, दलसिंहसराय।
3. जिला द्वारा उपावंटित राशि की विवरणीअनुग्रह अनुदान- अनुमंडल समस्तीपुर ,रोसरा।
4. ए०सी०  विपत्रों से संबंधित प्रतिवेदन।
5. आपदा सम्पूर्ति पोर्टल। इत्यादि

1. पंचायतवार मौजा बार बेघरों की सूची बनानी है सर जमीन सेवा के पोर्टल पर उसको एंट्री करवाने का निर्देश दिया गया।

2. सभी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया गया कि अपने सर्वेक्षण में सभी बेघरों की सूची अपडेट कर ले।उसके बाद उससे क्रय नीति/मुख्यमंत्री वास भूमि योजना के तहत जमीन दिया जाएगा। जिस पर वह इंदिरा आवास योजना के तहत अपना घर बना सकेंगे।

3. सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि व्यक्तिगत रूप से मॉनिटर करना सुनिश्चित करेंगे कि GR की इंट्री और पेमेंट हो रहा है अथवा नहीं? दो दिनों में एंट्री बंद कर दिया जाएगा।

4. कम्युनिटी किचेन

सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के वरीय पदाधिकारी व नोडल पदाधिकारी की उपस्थिति में गहनता से जांच करना सुनिश्चित करेंगे की कितना नाव चला? कम्युनिटी किचन चलाने में प्रयोग किए जाने वाले स्टॉक पंजी/ निबंधन पंजी की जांच और कितने लोग खा रहे हैं कि पणजी। सबका पेमेंट किया जाना है।

5. हल्का निरीक्षण

अंचल अधिकारी द्वारा अपने-अपने अंचल के पंचायतों हल्का में अगस्त व सितंबर में निरीक्षण किया गया जो इस प्रकार है:-
१.हसनपुर-दो हल्का का निरीक्षण किया गया।
२. विभूतिपुर- 1 हल्का का निरीक्षण किया गया।
३. वारिसनगर-एक हल्का गोही का निरीक्षण किया गया।
४. ताजपुर-एक हल्का रजवा पंचायत का निरीक्षण सितंबर माह में किया गया।
५. मोरवा-दो हल्के का निरीक्षण मोरवा व बाजीतपुर का किया गया।
६. मोहनपुर-बाढ आ जाने के कारण अब तक निरीक्षण नहीं किया गया।
७. पटोरी- हल्के का निरीक्षण नहीं किया गया।
८. समस्तीपुर- नीरपुर और दूधपूरा हल्का का निरीक्षण किया गया।
९. उजियारपुर-बेला मेघ और कटिहारा
१०. विथान-उजान हल्का
११. सिंधिया- माहे पंचायत हल्का
१२. दलसिंहसराय -केवटा हल्का
१३. विद्यापतिनगर -मऊ धनेशपुर दक्षिण
१४. मो०नगर -अगस्त में करीमनगर और मुद्ददाबाद में हल्के का निरीक्षण किया गया।
१५. खानपुर -खेड़ी पंचायत का निरीक्षण किया गया
१६. रोसरा- भरवारी मो० नगर पूरब का निरीक्षण किया गया।
१७. शिवाजी नगर -धर्मपुर जाखड़ का निरीक्षण किया गया।
१८. पूसा- ठहरा का निरीक्षण किया गया।
१९. कल्याणपुर- निरीक्षण नहीं किया गया।

सभी अनुमंडल पदाधिकारी और भूमि सुधार उप समाहर्ता को निर्देश दिया गया कि अपने अस्तर से क्रॉस चेक करेंगे कि अंचल अधिकारी साहब ठीक से हल्के का निरीक्षण किए है अथवा नहीं।