आईसीडीएस की राज्य स्तरीय टीम ने की पोषण अभियान के गतिविधियों की जांच

0
82


• पोषण प्रदर्शनी का किया गया शुभारंभ
• स्वच्छता एवं साफ सफाई के प्रति लोगो को किया जागरूक
• कुपोषण के स्तर में कमी लाने के लिए दिया आवश्यक दिशा-निर्देश

छपरा। आईसीएडीएस के राज्य स्तरीय टीम द्वारा सारण जिले के मशरख परियोजना में पोषण माह में किये गए गतिविधियों की जाँच पोषण अभियान के सलाहकार संतोष कुमार गुप्ता एवं बलिंद्र सिंह के द्वारा की गई । इसमें राज्य स्तरीय टीम द्वारा एक आंगनवाड़ी केंद्र पर अति कुपोषित बच्चो के आहार प्रदर्शनी कार्यक्रम में कुपोषण को मिटाने हेतु पोषण माह की जाने वाली विभिन्न प्रकार के गतिविधियों की शुरुआत राज्य स्तरीय टीम द्वारा द्वीप प्रज्वलित कर किया गया । आंगनवाड़ी केन्द्रो पर की जाने वाली गतिविधियों मे गर्भवती महिला का गोदभराई , 6 माह से ऊपर के बच्चे का अन्नप्राशन एवं अति कुपोषित बच्चो का आहार प्रदर्शन , लड्डू वितरण आदि गतिविधियों को किया गया ।आंगनवाड़ी केंद्र पर की जाने वाली गतिविधियों के माध्यम से ग्रामीण लोगो को पोषण एवं स्वास्थ्य तथा स्वच्छता एवं साफ सफाई के प्रति लोगो को जागरूक किया गया ।
कुपोषण के स्तर को कम करने की विशेष जोर:
राज्य स्तरीय टीम द्वारा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एवं के बारे में भी जानकारी दी गई । इनके द्वारा सेविकाओ को यह निर्देश दिया गया कि सरकार द्वारा आंगनवाड़ी केन्द्रो के माध्यम से चलाई जा रही पोषण से सम्बंधित योजनाओ को लाभार्थियों तक ससमय पहुचाये ताकि कुपोषण के स्तर को कम किया जा सके । इस कार्यक्रम में राज्य स्तरीय टीम में पोषण अभियान के सलाहकार संतोष कुमार गुप्ता एवं बलिंद्र सिंह , पोषण अभियान के जिला समन्वयक सिद्धार्थ सिंह एवं मशरख सीडीपीओ शशि कुमारी , महिला पर्यवेक्षिका संगीता कुमारी , प्रिटी कुमारी , अमृता कुमारी , प्रखंड समन्वयक नेहा कुमारी ,परियोजना सहायक गीता कुमारी आदि सीडीपीओ कार्यालय के कर्मी उपस्थित रहे ।
सभागार में की गयी समीक्षा बैठक:
राज्य स्तरीय टीम के द्वारा समाहरणालय सभागार कक्ष में सभी सीडीपीओ, सभी प्रखंड समन्वयक एवं प्रखंड परियोजना सहायक की उपस्थिति में पोषण ट्रैकर , जन आंदोलन डैशबोर्ड पर की गई इंट्री , मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा की गई तथा इसे ससमय शत प्रतिशत पूरा करने के लिए आवश्यक जानकारी तथा दिशानिर्देश दिए गए ।