बिहार में फार्म मशीनों की मरम्मत और रखरखाव सेवाओं के बढ़ावा” देने के लिए कार्यशाला

0
45

ONE NEWS NETWORK BIHAR

बिहार में फार्म मशीनों की मरम्मत और रखरखाव सेवाओं के बढ़ावा” देने के लिए कार्यशाला आयोजित
कौशल विकास कार्यक्रम के अंतर्गत दिनांक 30.09.2021 को कृषि यंत्रों की मरम्मती एवं रख-रखाव विषय पर एक कार्यशाला का आयोजन कृषि यंत्र एवं ऊर्जा विभाग, कृषि अभियंत्रण महाविधालय, पूसा के द्वारा किया गया | इस कार्यशाला में प्रशिक्षणर्थियों के अलावे बिहार सरकार,और विश्वविधालय के पदाधिकारियों/वैज्ञानिको ने भी भाग लिया | इस कार्यक्रम में विश्वविधालय के माननीय कुलपति डॉ० आर० सी० श्रीवास्तव ने अपने अध्यक्षीये संबोधन में कृषि के विकास में कृषि यंत्रों की महत्ता पर विस्तार से प्रकश डालते हुए इस क्षेत्र में रोजगार सृजन के लिये युवाओं के तकनीकी दक्षता को बढाने पर जोर दिया | कुलपति की स्पष्ट राय थी कि यदि ग्रामीण स्तर पर युवाओं को प्रशिक्षित कर तकनिकी मानव बल में बढ़ोतरी किया जाता है तो न सिर्फ कृषि यंत्रीकरण को बढ़ावा मिलेगा बल्कि ग्रामीण स्तर पर रोजगार के अवसरों का सृजन कर युवाओं को राज्य से पलायान से भी रोका जा सकता है | राज्य सरकार के सौजन्य से आयोजित होने वाले फार्म मशीनों की मरम्मत और रख-रखावके प्रशिक्षण के कृषि अभियंत्रण महाविधालय, पूसा में आयोजन पर ख़ुशी व्यक्त करते हुए माननीय कुलपति ने अधिष्ठाता, कृषि यंत्र एवं ऊर्जा विभाग के विभागाध्यक्ष के साथ साथ इस प्रशिक्षण में भाग लेनें वाले सभी वैज्ञानिको/कर्मचारियों/संविदा कर्मियों की कार्य की सराहना की तथा उनका उत्साहवर्धन किया और यह आशा भी जताई की आने वाले समय में इस तरह के प्रशिक्षण को और भी ससक्त और वस्तुपरक बनाया जायेगा | डॉ० अम्बरीश कुमार, अधिष्ठाता कृषि अभियंत्रण महाविधालय ने कार्यक्रम को विस्तार से रखा और कार्यशाला को कृषि रोजगार से जोड़ा |
इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि की भूमिका में भारतीये कृषि अनुसन्धान परिषद के भोपाल अवस्थित केंद्रीय कृषि अभियंत्रण संस्थान के पूर्व निदेशक डॉ० प्रीतम चन्द्र ने अपने संबोधन में किसानो के खेतों में कृषि उर्जा की उपलब्धता को बढाने पर प्रकाश डालते हुए छोटे एवं मझोले किसानो के लिये उपयुक्त छोटे कृषि यंत्रों के विकास पर बल दिया |
डॉ० चंद्रा ने महाविधालय में हो रही प्रशिक्षण कार्य की सराहना की और बधाई भी दिया | इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि संयुक्त निदेशक, (कृषि अभियंत्रण) एवं राज्य नोडल अधिकारी, बिहार सरकार डॉ० जे० पी० नारायण ने भारत एवं बिहार सरकार द्वारा प्रदेश में हो रही कृषि योजना के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी |
श्री अनिल झा उप – निदेशक (कृषि) प्रशिक्षण से होने वाली रोजगार के अवसर के बारे में जानकारी देकर प्रशिक्षनार्थियो का मनोबल बढाया |
यह कार्यक्रम का समापन डॉ० एस० के० पटेल, विभागाध्यक्ष, कृषि यंत्र एवं ऊर्जा विभाग के धन्यवाद ज्ञापन से हुआ |
इस कार्यशाला में प्रसंस्करण और खाद्य इंजीनियरिंग, विभागाध्यक्ष डॉ० मुकेश श्रीवास्तव एवं मृदा एवं जल विभाग, विभागाध्यक्ष डॉ० आर० सुरेश० वर्मा, ई० क्रांति कुमार, डॉ० पी० के० प्रणव, डॉ० सुभाष चंद्रा, ई० मनोरंजन कुमार, ई० जया सिन्हा एवं अन्य मौजूद थे |