बैलेट से हार का बदला ले रही सरकार

0
1259


बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ के जिलामहासाचिव रामनाथ कुमार व जिला अध्यक्ष कुमार रजनीश n प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा की नियोजित शिक्षक से सरकार बैलेट से हार का बदला ले रही है।एक तो 3 माह के बाद मात्र 1 माह अगस्त का आवंटन 5 अक्टूबर को सरकार ने पीएफएमएस के माध्यम से जारी किया परंतु पीएफएमएस से ट्रांसफर करने में ओवर ड्राफ्ट के बारे में सर्व शिक्षा अभियान के पदाधिकारियों को सही से प्रशिक्षण नही दे पायी जिससे एक सप्ताह बाद भी दुर्गापूजा के अवसर पर शिक्षकों को नहीं मिल पाया वेतन।
ज्ञात हो की समस्तीपुर जिले को राज्यांश के रूप में 5 करोड़ 23 लाख व केंद्रांश के रूप में 34 करोड़ 43 लाख रुपए सर्वशिक्षा मद में प्राप्त हुआ।परंतु डीपीओ स्थापना के लापरवाही के कारण राज्यांश मद से नियोजित शिक्षकों का हक मारकर सिर्फ नियमित शिक्षकों का भुगतान हुआ।जो एक प्रकार का वित्तीय अनियमता भी है। इस वर्ष किसी भी त्यौहार होली या ईद के अवसर पर वेतन देने में नाकाम रही है सरकार।त्यौहार क्या होता है ये तो नियोजित शिक्षक व उनके परिजन भूल ही चुके हैं।
वहीं दूसरी तरफ 15% वेतन वृद्धि पर कुंडली मार कर बैठी है सरकार।विधान सभा चुनाव पूर्व ही अप्रैल 21 से 15% वेतन वृद्धि की घोषणा की गई थी ।परंतु सरकार नियोजित शिक्षकों से सौतेला पूर्ण व्यवहार कर रही है।अभी तक इसकी वित्त विभाग से आधिकारिक स्वीकृति नहीं दे पाई है।एक वर्ष का डी ए तो पहले ही गबन कर चुकी है पता नहीं आस्था का महापर्व छठ पूर्व भी वेतन दे पाती है या नहीं।शिक्षकों में अंदर ही अंदर सरकार के प्रति चिंगारी भड़क रही है अगर समय रहते नहीं चेती तो किसी भी वक्त ज्वालामुखी का रुख ले एक बहुत बड़े आंदोलन को जन्म दे सकती है।