मोहद्दीनगर प्रखंड के लिए संजय कुमार,उप विकास आयुक्त एवं मोहनपुर प्रखंड के लिए ऋषभ राज, वरीय उप समाहर्ता को वरीय प्रभारी बनाए गए।

0
64

पंचायत आम निर्वाचन 2021 के एकादश चरण का मतदान समस्तीपुर जिला अंतर्गत मोहद्दीनगर एवं मोहनपुर प्रखंड में 12 दिसंबर 2021 को होना निर्धारित है ।मतदान प्रातः 7:00 से 5:00बजे अपराह्न तक जारी रहेगा। यह मतदान ईवीएम के साथ-साथ मतपेटिका के माध्यम से मतपत्र पर मोहर लगाकर संपन्न किया जाएगा ।उक्त मतदान को निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं भय मुक्त वातावरण में संपन्न कराने के उद्देश्य समाहरणालय स्थित एनआईसी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हॉल में जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) के द्वारा की गई ,जो 11 तारीख के प्रातः 6:00 बजे से 13 तारीख के प्रातः 6:00 बजे तक कार्यरत रहेगा। इसके नोडल पदाधिकारी अनुग्रह नारायण सिंह जिला पंचायत राज पदाधिकारी बनाए गए हैं, जिनके सहयोग में निलेश कुमार, वरीय उप समाहर्ता, आशुतोष कुमार आईटी मैनेजर रहेंगे। जबकि देवव्रत मिश्रा उप निर्वाचन पदाधिकारी सह नोडल पदाधिकारी हेल्पलाइन कोषांग सबसे समन्वय स्थापित कर नियंत्रण कक्ष में आवश्यक चीजों की आपूर्ति करेंगे।जिला नियंत्रण कक्ष के संपूर्ण वरीय प्रभार में विनय कुमार राय अपर समाहर्ता बनाये गए हैं,जबकि मोहद्दीनगर प्रखंड के लिए संजय कुमार,उप विकास आयुक्त एवं मोहनपुर प्रखंड के लिए ऋषभ राज, वरीय उप समाहर्ता को वरीय प्रभारी पदाधिकारी बनाया गया है। निर्वाचन के विभिन्न परिवादों को निष्पादित करने के लिए मुख्य मास्टर प्रशिक्षक मुकेश कुमार के साथ मास्टर प्रशिक्षक सतीश कुमार यादव,अनुपम कुमार सिन्हा एवं कपिलेश्वर प्रसाद सिंह की प्रतिनियुक्ति की गई है, जो यहां स्थापित चार लैंडलाइन टेलिफोन से प्राप्त प्रतिवादों का त्वरित निष्पादन करेंगे। इसके साथ-साथ दोनों प्रखंडों में प्रखंड स्तरीय नियंत्रण कक्ष की भी स्थापना की गई है ,जहां पर बीईएल के अभियंता की भी प्रतिनियुक्ति किया गया है और उनके साथ मास्टर ट्रेनर भी लगाया गया। इस तरह निर्वाचन की प्रकिया पर चौकसी रखने के लिए विभिन्न स्तर पर दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है, जिनके साथ पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई ।मतदान तिथि को जिला प्रशासन की ओर से सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है, इसके लिए ईवीएम सह मतपेटीका संग्रहण दंडाधिकारी, सेक्टर दंडाधिकारी, जोनल दंडाधिकारी एवं सुपर जोनल दंडाधिकारी के साथ-साथ निर्वाची पदाधिकारी एवं स्थानीय थाना अधीक्षक को पूरी जिम्मेवारी दी गई है। मतदान केंद्र पर होने वाले ईवीएम में किसी प्रकार की गड़बड़ी को सुधार करने के लिए सेक्टर अफसर के साथ जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनरों की प्रतिनियुक्ति की गई है, जो मतदान केंद्र पर किसी भी समस्या का त्वरित निष्पादन कर सकेंगे ।दोनों प्रखंडों में सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) एवं पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में फ्लैग मार्च किया जा चुका है एवं मतदाताओं को भयमुक्त वातावरण में मतदान करने हेतु प्रेरित किया गया है।