टीपीएस उच्च विद्यालय में एनओयू के स्टडी सेंटर का रजिस्ट्रार ने किया उदघाटन।

0
64

#Study सेंटर उदघाटन# रजिस्ट्रार डा. घनश्याम राय#
दूस्थ शिक्षा से जोड़ने को लेकर टीपीएस उच्च विद्यालय पिरहिंडा को नालंदा खुला विश्वविद्यालय से स्टडी सेंटर की मिली मान्यता के बाद शुक्रवार को विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डा.घनश्याम राय एवं विद्यालय के प्राचार्य आलोक कुमार द्वारा दीप प्रज्वलित कर सेंटर का उदघाटन किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता धनराज सिंह महाविद्यालय के प्राचार्य श्रीराम सिंह ने की।जबकि मंच संचालन विद्यालय के अतिथि शिक्षक कौशलेंद्र ने किया।हालांकि कार्यक्रम की शुरुआत शिक्षक पंकज कुमार मिश्र के मंगलाचरण पाठ से की गई।वहीं बच्चियों ने गणेश वंदना व स्वागत गान गाकर अतिथियों का स्वागत किया।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एन ओ यू के रजिस्ट्रार ने कहा कि स्टडी सेंटर खुल जाने से कामकाजी लोगों और महिलाओं को अध्ययन करने में काफी सहूलियत होगी।विद्यालय के विकास में भी डिस्टेंस एडुकेशन मददगार होगा।कहा कि रेगुलर मोड में किसी कारणवश पढ़ाई नहीं कर पाने वाले छात्र-छात्राओं के लिए एनओयू एक सशक्त प्लेटफार्म साबित होगा।इसमें काफी जॉब ओरिएंटेड कोर्स हैं जो अन्य विश्वविद्यालयों से भिन्न है।नैक मूल्यांकन में भी डिस्टेंस एडुकेशन सेंटर का महत्वपूर्ण रोल होता है।उन्होंने कहा कि एनओयू डिस्टेंस एडुकेशन का बिहार में सबसे बड़ी संस्था है।एनओयू डिस्टेंस एडुकेशन का एक मजबूत स्तम्भ है।बताया कि वर्तमान में लगभग 107 कोर्स संचालित किए जा रहे हैं। चार दर्जन से अधिक सर्टिफिकेट कोर्स हैं। इसके अलावे कई पीजी डिप्लोमा कोर्स चलाये जा रहे हैं। ये सभी कोर्स जाब ओरिएंटेड हैं। इसमें स्किल डेवलपमेंट पर ज्यादा जोर दिया गया है। ताकि छात्र हुनरमंद हो सके।आत्मनिर्भर भारत और गांधी के ग्राम स्वराज और स्वावलम्बन पर बल दिया गया है। कुलसचिव ने अपने संबोधन में एनओयू के कोर्सेस को विस्तार से बतलाते हुए कहा कि बिहार के सभी बच्चे और बच्चियां विभिन्न कोर्सों में नामांकन लेकर अध्ययन कर सर्टिफिकेट प्राप्त करेंगे तभी वे हुनरमंद बनेंगे। उनमें स्वावलंबन और स्वरोजगार की भावना उत्पन्न होगी। गांधी का ग्राम स्वराज और स्वावलंबन तभी साकार होगा जब हर आदमी हुनरमंद बनेंगे।आवश्यकता की तमाम चीजों का उत्पादन ग्राम स्तर पर करेंगे और उसका उपयोग सामूहिक रूप से करेंगे। तभी ग्राम स्वराज का सपना साकार होगा।रजिस्ट्रार ने कहा की गांधीजी के इसी सपने को साकार करने के लिए भारत में ग्राम पंचायत और ग्राम सभाओं को स्थानीय विकास तथा स्थानीय प्रशासन का मुख्य आधार बनाया गया है।एनओयू के रजिस्ट्रार ने टीपीएस उच्च विद्यालय में स्टडी सेंटर खोलने की कागजी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद विधिवत इसकी घोषणा भी की। मौके पर उन्होंने एनओयू में सभी कोर्सों में नामांकन प्रकिया से भी अवगत कराया। कहा कि इंटर,स्नातक और बी.एड. की छात्र – छात्राएं अपने पसंद के सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्स अपनी पढ़ाई के अलावे कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि नामांकन आनलाइन और आफलाइन मोड में जारी है। जिसकी विस्तृत सूचना व जानकारी एनओयू के वेबसाइट या विद्यालय के स्टडी सेंटर से ली जा सकती है।इस अवसर पर जदयू प्रखण्ड अध्यक्ष सह विधायक प्रतिनिधि ब्रजेश कुमार,नरेंद्र कुमार सिंह,शिक्षक महेश कुमार, रूपेश कुमार शिक्षिका कविता कुमारी शिक्षक शशिकांत कुमार,सुनील कुमार भारती,शम्भू दास,नीलेश यादव,ग्रामीण शिवबालक सिंह,अमरेश कुमार समेत स्कूली छात्र छात्रा उपस्थित थे।