आइए, मिलकर प्रेरित करें बिहार !

0
68

ONE NEWS LIVE NETWORK WEBTEAM

ANUP/R B ROY

“आइए, मिलकर प्रेरित करें बिहार !” या “Let’s Inspire Bihar !” मातृभूमि की समृद्ध विरासत से प्रेरित तथा नव बिहार गढ़ने के लिए संकल्पित युवाओं एवं प्रबुद्धजनों का एक स्वैच्छिक समूह है । इस आभियान के अंतर्गत जुड़े व्यक्तियों द्वारा लघुवादों (जातिवाद, सम्प्रदायवाद इत्यादि) से उपर उठकर राष्ट्रहित में भविष्यात्मक दृष्टिकोण को अंतर्मन में स्थापित करके शिक्षा, समता एवं उद्यमिता जैसे विकास के आधारभूत क्षेत्रों में बृहतर चिंतन के साथ संगठित होकर योगदान समर्पित करने का प्रयास किया जा रहा है तथा कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने आचरण तथा विरासत में समाहित दृष्टि तथा प्रेरणा से प्रेरणास्त्रोत बनकर दूसरों को प्रेरित किया जा रहा है, ताकि उज्ज्वलतम भविष्य का निर्माण संभव हो सके तथा आनेवाली पीढ़ियाँ हम पर भविष्य निर्माता के रूप में गर्व करें ।

अभियान के अंतर्गत बिहार में उद्यमिता के विकास की संभावनाओं तथा रोडमैप पर व्यापक विमर्श हेतु नई दिल्ली के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में अभियान के दिल्ली-एनसीआर अध्याय (चैप्टर) द्वारा एक दिवसीय #बिहारउद्यमितासम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले बिहारवासियों के साथ-साथ देश के अनेक क्षेत्र में रहने वाले बिहारवासी तथा बिहार के विभिन्न जिलों से पहुंचे बिहारवासियों ने भाग लिया । सम्मेलन का प्रारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं स्वागत गीत के साथ हुआ जिसके पश्चात अभियान के संबंध में आइपीएस अधिकारी विकास वैभव द्वारा विजन, मिशन एवं उद्देश्यों से परिचित कराया गया और बताया गया कि इसमें समाज के सभी वर्गों की भूमिका है ।

विकास वैभव ने बताया कि बिहार की भूमि प्राचीन काल से ही ज्ञान, शौर्य एवं उद्यमिता की प्रतीक रही है और स्मरण कराया कि हम उन्हीं यशस्वी पूर्वजों के वंशज हैं जिनमें अखंड भारत के साम्राज्य को स्थापित करने की क्षमता तब थी जब न आज की भांति विकसित मार्ग थे, न सूचना तंत्र और न उन्नत प्रौद्योगिकी । यह हमारे पूर्वजों के चिंतन की उत्कृष्टता ही थी जिसने बिहार को ज्ञान की उस भूमि के रूप में स्थापित किया जहाँ वेदों ने भी वेदांत रूपी उत्कर्ष को प्राप्त किया । इसी प्रारंभिक ज्ञान की परंपरा ने ही कालांतर में ऐसे विश्वविद्यालयों को स्थापित होते देखा जहाँ संपूर्ण विश्व के विद्वान अध्ययन हेतु लालायित रहते थे । हमें यह समझना होगा कि उर्जा निश्चित आज भी वही है, आवश्यकता केवल चिंतन की है कि उर्जा का प्रयोग हम कहाँ कर रहे हैं । यदि पूर्वजों के कृतित्वों से हम प्रेरित होते हैं तो स्वयं की असीमित क्षमताओं के विषय में भी हमें स्पष्ट हो जाना चाहिए । आवश्यकता लघुवादों यथा जातिवाद, संप्रदायवाद आदि संकीर्णताओं से परे उठकर राष्ट्रहित में आंशिक ही सही परंतु कुछ निस्वार्थ सकारात्मक सामाजिक योगदान समर्पित करने की है । यदि हम चिंता नहीं अपितु चिंतन करें, आपस में संघर्ष नहीं अपितु सहयोग करें, तो उज्ज्वलतम भविष्य के निर्माण का भला अवरोध कौन कर सकेगा । आवश्यकता यह है कि हम केवल स्वयं तक सीमित मत रहें और बिहार की विरासत में समाहित इस अद्भुत प्रेरणा का प्रसार करें ।

बिहार में और बाहर एलआईबी अध्यायों की स्थिति के संबंध में मंजीत विशाल द्वारा प्रस्तुति दी गई । बिहार में उद्यमिता के विकास के लिए इतिहास, वर्तमान स्थिति और एजेंडा पर बिहार उद्यमिता एशोसियेशन के सचिव अभिषेक द्वारा व्याख्यान दिया । तत्पश्चात letsinspirebihar.org वेबसाइट लांच किया गया जिसमें मेंटर यूर स्कूल पोर्टल (MENTOR YOUR SCHOOL) तथा बिहार रोजगार पोर्टल भी लांच किए गए जिनके संबंध में धीरज कुमार तथा रवि निशांत द्वारा परियोजना का परिचय और शिक्षा के प्रचार के लिए एजेंडा के संबंध में बताया गया । मेंटर यूर स्कूल पोर्टल में स्वैच्छिक नामांकन प्राप्त करने की व्यवस्था है जिसमें  जिले/ब्लॉक के ड्रॉप-डाउन मेनू में उपलब्ध सभी पंजीकृत स्कूलों की सूची से, अपने गृह जिले या बिहार के भीतर किसी भी चुने हुए स्थान पर किसी चयनित स्कूल की मेंटर टीम का सदस्य बनने के लिए फार्म भरा जा सकता है । मेंटर टीम स्कूल के शिक्षकों और छात्रों दोनों के कौशल को बढ़ाने के लिए रणनीति तैयार करेगी और विशेषज्ञों और इच्छुक पेशेवरों को स्वैच्छिक आधार पर योगदान देने के लिए आमंत्रित करेगी। बिहार रोजगार पोर्टल में सदस्य लॉगिन और पंजीकरण कर सकते हैं। रोजगार चाहने वाले व्यक्तियों का विवरण रखने वाले सदस्य कौशल सेट के साथ वेबसाइट पर अपलोड कर सकते हैं जैसा कि प्रपत्रों में पूछा गया है। लोगों को रोजगार देने की तलाश में उद्यमियों द्वारा इस तरह के विवरण तक पोर्टल के माध्यम से पहुंचा जा सकता है। संक्षेप में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए शुरुआत में एक अच्छा नेटवर्क बनाने की परिकल्पना की गई है। TEDx Talks/Josh Talks के समान LIB Talks (logo के साथ) का शुभारंभ किया गया जिसमें मुख्य वक्ता विवेक सिंह और रानी सहाय रहे । LIB Talks को विस्तृत कर अभियान के संबंध में चर्चा की योजना है । उद्यमिता में बिहार की सफलता की कहानियों पर नासा के वैज्ञानिक रहे रवि आर कुमार ने प्रकाश डालते हुए कहा कि  बिहार को हम आप सब को मिलकर प्रेरित करना होगा जिसमें खासकर युवा वर्ग की जिम्मेदारी ज़्यादा है । हम जो भी बिहार के बारे में सोंचते है उन्हें goal ओरिएंटेड पॉजिटिव थिंकिंग एवं एक्शन के साथ  फोकस होना पड़ेगा।। देहात से जुड़े शशांक ने उद्यमिता के विकास पर प्रकाश डाला । अखिल भारतीय पंचायत परिषद से जुड़े वाल्मीकि सिंह ने बताया कि बिहार के विकास के लिए हमें गाँव का विकास करना होगा। जिनको ज़रूरत हैं उन्हें खुद आगे आकर बदलाव का वाहक बनना होगा । दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर संगीत रागी जी द्वारा बताया गया कि सरकार का हिस्सा रहने के बाद भी विकास वैभव जी ने यह मुहिम चलाया इसके लिए साधुवाद के पात्र हैं। मुझे विश्वास है कि यह मुहिम अगर पलान्तरित होता है तो निश्चित तौर पर  बिहार का कायाकल्प हो जाएगा।  बिहार जो पिछले 70 साल में आज़ादी के बाद नीचे आया इसके लिए हम सब जिम्मेदार है क्योंकि हमने अपनी मिट्टी के प्रति जो दायित्व था उसका निर्वाह नही किया।

तत्पश्चात विकास वैभव और एलआईबी मुख्य टीम के सदस्यों के साथ संवादात्मक सत्र आयोजित हुआ ।

तत्पश्चात पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया जिसमें बिहार के 15 सफल उद्यमियों को सम्मानित किया गया ।

  1. Shashank, CEO, Dehaat
  2. Mr. Ashutosh Kumar
    CEO- Road Express Technology Pvt Ltd
    Fastest growing StartUp in Logistics
  3. Mr. Divyam sharma and Mr. Shivam Kumar
    CodeBuckets Solutions Pvt Ltd.
    One of the fastest growing Data Science Company in Eastern India
  4. Name- Jai Kant
    Company name – COMFY Footwear
    Co-Founder
    They are 1st Footwear manufacturing company in bihar and They are opreational in 19 District of Bihar. They make footwear products from wastage and work on  recycled base products especially old slippers.
  5. Mr Ajay Kumar
    Udyam Foundation
    Working for the rural development of Bihar
  6. Abhishakti Gupta, CEO, Swayambhu Innovative Solutions Pvt Ltd
    Swayambhu innovative solutions Pvt Ltd working in the field of waste management. We are converting wet waste into energy(cooking fuel is served to 33 household in Imamganj, Gaya Bihar, wet waste is converted into electricity where street lights are getting lighted near Haridwar in Uttrakhand), dry waste are recycled and the plastic wastes are converted into plastic ply boards. We are using the single use plastics which generally go in the landfills.
  7. Mr. Rohit Kumar
    Founder – Media Trendrz
    Giving platform for budding news and communication
  8. Mr. Atul Singh
    Senior Consulatant- Aviation Industry
  9. Mr. Vikash Singh
    President- Supreme Court Bar Association
  10. Abhishek Kumar, from Aurangabad district for Entrepreneurship in agriculture sector and 5 others.

तत्पश्चात महत्वपूर्ण वक्ताओं को तथा अभियान से जुड़े सदस्यों को सम्मानित किया गया ।