बिहार के भागलपुर में टेक्सटाइल पार्क खुलने की संभावना

0
135


बिहार के भागलपुर में टेक्सटाइल पार्क खुलने की संभावना बढ़ती हुई नजर आ रही है। दरसल इस प्रोजेक्ट के लिए उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव ने भागलपुर डीएम को 1000 एकड़ अविवादित जमीन उपलब्ध कराने के लिए निर्देश दिया है। हालांकि अब अपर मुख्य सचिव का पत्र मिलने के बाद जिले के सभी 16 अंचलों में जमीन खोजी जा रही है।


राजस्व विभाग ने सभी अंचलाधिकारियों को आदेश दिया है कि, सभी अविवादित जमीन से संबंधित रिपोर्ट जल्द से जल्द भेजें। यदि 1000 एकड़ भूमि नहीं मिलती है तो प्रोजेक्ट लौट भी सकता है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में सात पीएम-मित्र (पीएम मेगा एकीकृत टेक्सटाइल क्षेत्र एवं परिधान) पार्क खोलने की घोषणा की गई थी।


कपड़ा मंत्रालय के अधिसूचना जारी करने के बाद 21 अक्टूबर, 2021 को मित्र पार्कों की स्थापना के लिए संबंधित राज्यों को भूमि से संबंधित प्रस्ताव मांगी गई। लेकिन कोरोना की तीसरी लहर के कारण यह पत्र का कोई प्रतिक्रिया नही मिली। लेकिन अब सब पाबंदियां खत्म हुईं तो फिर से पीएम मित्र पार्क के लिए जमीन ढूंढने का काम शुरू हुआ।


यह पार्क सार्वजनिक निजी भागीदारी मोड से बनना है। इसे बनाने में 51 प्रतिशत राज्य एवं 49 प्रतिशत राशि केंद्र सरकार खर्च करेगी। देखा जाए तो इस पार्क के खुलने से एक लाख प्रत्यक्ष एवं दो लाख अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा होगा। एक ही जगह पर कताई, बुनाई, रंगाई-छपाई से लेकर परिधान का निर्माण किया जाएगा। इससे एकीकृत टेक्सटाइल मूल्य शृंखला उद्योग की लॉजिस्टिक लागत भी कम होगी।


विभागीय अधिकारियों के अनुसार पार्क स्थापित करने के लिए राज्य सरकार ने भागलपुर को पहली प्राथमिकता पर रखा है। इसका मतलब यह हुआ कि यहां सिल्क एवं हैंडलूम कपड़ों से परिधान का निर्माण काफी समय से किया जा रहा है। सालाना कारोबार लगभग 500 करोड़ का यहां होता आया है। ऐसे में पार्क बनने से यहां रोजगार के साथ-साथ व्यापार में भी वृद्धि होगी। दरसल टेक्सटाइल पार्क खोलने के लिए उद्योग विभाग से 1000 एकड़ जमीन के लिए मांग पत्र आया है। और सभी सीओ को भूखंड की रिपोर्ट देने को कहा गया है। रिपोर्ट मिलते ही उद्योग विभाग को प्रस्ताव भेजा जाएगा।