दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के तहत जीविका द्वारा रोजगार-सह-मार्गदर्शन मेला का आयोजन

0
122

ONE NEWS LIVE NETWORK WEBTEAM


जिला जन संपर्क कार्यालय
समाहरणालय समस्तीपुर
जीविका, समस्तीपुर
दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के तहत जीविका द्वारा रोजगार-सह-मार्गदर्शन मेला का आयोजन जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र में किया गया।

आयोजन का उद्घाटन जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, समस्तीपुर राजीव रंजन सिन्हा, प्रखंड विकास पदाधिकारी राहुल कुमार, जिला परियोजना प्रबंधक गणेश पासवान, जीविका के प्रबंधक कुणाल मिश्रा, अभिषेक आनन्द, मनोज रंजन सहित अन्य अधिकारियों ने सयुंक्त रूप से दीप प्रज्ववलित कर किया।

अपने संबोधन में जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजीव रंजन सिन्हा ने जीविका के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि जीविका ने बदलाव की दिशा में बेहतरीन कार्य किया है।
रोजगार की बात हो या स्वरोजगार की सभी कार्य में जीविका अव्वल है।

प्रखंड विकास पदाधिकारी राहुल कुमार ने कहा कि रोजगार की कमी नहीं है, कमी है तो हुनर की।
जीविका युवाओं को हुनरमंद बनाने की दिशा में निरंतर सक्रिय है और रोजगार मेला उसकी बानगी है।

जीविका के जिला परियोजना प्रबंधक गणेश पासवान ने जीविका के कार्यों की विस्तार से चर्चा करते हुए बताया कि प्रत्येक वर्ष जिले के सभी अनुमंडल में रोजगार मेला का आयोजन किया जाता है जिससे बेरोजगार युवाओं को उनके रुचि के अनुसार रोजगार उपलब्धता का मंच मिले।

सामुदायिक वित्त प्रबंधक कुणाल मिश्र ने जीविका द्वारा संस्थागत निर्माण, वित्तीय संपोषण, कौशल विकास आदि के क्षेत्र में किये जा रहे कार्य को रेखांकित किया।

सामाजिक विकास प्रबंधक मनोज रंजन, रोजगार प्रबंधक ने रोजगार मेले पर विस्तार से प्रकाश डाला। आयोजन से पूर्व अथितियों का स्वागत पौधा देकर जीविका दीदियों ने किया।

धन्यवाद ज्ञापन सदा प्रखंड के प्रखंड परियोजना प्रबंधक नीलेश कुमार सिन्हा ने किया। मंच का संचालन सयुंक्त रूप से बीपीएम सोनाली एवं मैनेजर मनोज कुमार मधुकर ने किया।

रोजगार मेला में कुल 956 युवाओं ने अपना निबंधन करवाया। सीधी भर्ती के तहत मिंडा में 112 एम एस एडवरटाइज में 47, वीकेसी में 22, बीएबल में 36, शिव शक्ति में 25, नव भारत में 12 युवाओं को रोजगार मिला, वहीं डी डी यू जी के वाय के तहत जे आयी टी एम एस में 115, कस्तूरबा में 30, एम्पावर में 35, कोलेक्सेंट में 52, आरसेटी में 110 युवाओं को प्रशिक्षण के लिए चुना गया। आरसेटी में कुल 110 युवाओं को विभिन्न ट्रेड के प्रशिक्षण के लिए भी चुना गया।