विद्यालयों के कुल 108 सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को सम्मानित किया गया.

0
114
अपसा शिक्षा रत्न” 2019 में बिहार के विभिन्न निजी विद्यालयों के कुल 108 सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को सम्मानित किया गया|

ONE NEWS LIVE NETWORK R B ROY

पटना स्थित ए.एन. सिन्हा इंस्ट्यिूट में पूर्वाहन 11 बजे Un-aided Privete School Association (UPSA) द्वारा अपसा शिक्षा रत्न 2019 का वितरण सह ‘अपसा संवाद त्रैमासिक पत्रिका का लोकार्पण कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें मुख्य अतिथि पूर्व आरक्षी महानिदेशक एवं सुपर 30 के संस्थापन शिक्षाविद श्री अभयानंद थे। कार्यक्रम का उदघाटन श्रीमती सुहेली मेहता, सहायक प्राध्यापक, मगध महिला काॅलेज के द्वारा किया गया । कार्यक्रम का संचालन डाॅ मुकेश कुमार तथा राकेश कुमार रंजन के द्वारा किया गया।

सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए अपसा अध्यक्ष मनोरथ महाराज ने कहा कि अपसा का गठन निजी विद्यालयों के पेशेगत हितों के संरक्षण, शिक्षा के अधिकार के अंतर्गत विद्यालय संचालन को सरल बनाने एवं शिक्षा व्यवस्था में गुणात्मक सुधार लाने के उद्ेश्य से यिका गया है। सीमित संसाधन में बच्चों से कम फीस लेकर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदानकर एक सभ्य, सुसंस्कृत एवं शिक्षित भारत के निर्माण करने वाले विद्यालयों का यह संगठन है। हम इस पुनीत कार्य में सरकार के भी सकारात्मक सहयोग की अपेक्षा रखते है।

अंतराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त महान शिक्षाविद श्री अभ्यानन्द ने कहा कि गरीब एवं निर्धन बच्चों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है जरूरत इस बात की है कि समाज के कमजोर वर्ग के बच्चों का समुचित मार्ग दर्शन कराते हुए शिक्षा के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला।

अपने उद्घाटन भाषण में श्रीमती सुहेली मेहता ने कहा महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए नारी शिक्षा एवं सुरक्षा बहुत जरूरी है। जब महिला सशक्त हेागी तभी सशक्त समाज का निर्माण संभव है और इसके लिए महिलाओं को उनके अधिकार के प्रति जागरूक करना बेहत जरूरी हैं
अपने उद्बोधन में अपसा सचिव श्री राके श कुमार रंजन ने कहा कि स्कूली छात्रो के बीच प्रतियोगिता एवं निजी शिक्षकों को उनके समर्पित भाव से काम करने लिए प्रोत्साहन हेतु अपसा आगे भी निंरतर ऐसे कार्यक्रमों का आयोजित करता रहेगा।

अपसा कोषाध्यक्ष डाॅ मुकेश कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि हम मध्यम वर्गीय विद्यालय गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए जाने जाते है। RTE का अधरक्षः पालन करते है फिर भी हम उपेक्षा के शिकार होते है, सरकार को हमारे अस्तित्व का भी पूरा ध्यान रखना होगा और हम भी सरकार व समाज को पूरा सहयोग करने के लिए वचनबद्ध है।

“अपसा शिक्षा रत्न” 2019 में बिहार के विभिन्न निजी विद्यालयों के कुल 108 सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को महान शिक्षाविद् सह पूर्व डी.जी.पी. श्री अभयानंद, मगध महिला कालेज पटना की सहायक प्रोफेसर डा. सुहेली मेहता, युवा नेता श्री नागमणि कुशवाहा, समेत अपसा के सभी गणमान्य सदस्यों द्वारा सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में Presidency University बंगलौर के प्रतिनिधि श्री रमेश कुमार, सुसमय के श्री एस.के. दुबे, अपसा के श्री अजय कुमार, वर्मा, ंश्री अजय कुमार झा, श्री गोकुलेश उपाध्याय, श्री सुरेश कुमार, श्रीमती स्नेहलता, तपस्या कोचिंग संचालक श्री प्रशांत चैबे, भूतपूर्व मौसम वैज्ञानिक श्री विनोद कुमार आदि ने भी शिक्षा के महत्व एवं उसके इसके प्रसार पर अपने अपने विचार व्यक्त किये।
अंत में श्री पवन कुमार सिंह अपने धन्यवाद ज्ञापण के साथ कार्यक्रम सामापन की घोषणा की।